कोचिंग सेंटर में मजनू का लगा रहता है जमावड़ा छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की घटना का बना रहता है अंजाम

रीवा@न्यूज़:-संभागीय मुख्यालय रीवा के सिरमौर चौराहे पर रमा गोविंद पैलेस नाम की प्राचीन इमारत बनी हुई है। इस इमारत में एक साथ 28 कोचिंग संस्थान संचालित होते हैं। इस वजह से रमा गोविंद पैलेस को कोचिंग हब नाम से भी जाना जाता है। इसके बावजूद यहां पर फायर सिस्टम और वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के नाम पर कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। यहां पर किसी भी समय सूरत जैसे हादसे की पुनरावृत्ति हो सकती है। इस कोचिंग हब मे सुबह से मजनू टाइप के अराजक तत्वों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। यही लोफर कोचिंग आने और वापस जाने के दौरान जबरिया छात्राओं के साथ छेडछाड की घटना को हमेशा बेखौफ अंजाम देते नजर आते हैं। न जाने कितनी बार पुलिस को इस समस्या के बारे मे लिखित और मौखिक अवगत कराया गया पर आज तक पुलिस प्रशासन सजग नहीं हुआ है। इस वजह से रोज छात्राएं इस कोचिंग हब मे छेड़छाड़ की वारदात का सामना करने के लिए मजबूर हो गई है। महिला सुरक्षा को लेकर विधानसभा और लोकसभा में विधायक ओर सांसद बडी बडी बातें करते हैं और रीवा जैसे शहर मे सरेआम रमा गोविंद पैलेस मे छात्राओं को छेड़छाड़ का शिकार बनाया जा रहा है। कोचिंग संचालकों की माने तो थाने की पुलिस और आला अफसरों के सामने अनेकों बार छात्राओं की सुरक्षा के लिए गुहार जरूर लगाईं गई पर रमा गोविंद पैलेस के बदतर हालातों में किसी तरह का सुधार आज तक नहीं हो पाया है।
नशा करने वालों का हब बन गया सुरक्षित अड्डा
रीव शहर मे सबसे अधिक युवाओं का जमघट सिरमौर चौराहे पर रमा गोविंद पैलेस में देखने को हमेशा मिलता है। शहर के साथ साथ आसपास के इलाकों से बडी संख्या में छात्र छात्राएं यहां पर कोचिंग सेंटर में पढने आते हैं। सुबह से कोचिंग हब के नाम से मशहूर इमारत में कोरेक्स, नशीली दवाओं, गांजा और शराब का नशा करने वालों का जमघट लगना शुरू हो जाता है। जमकर नशा करने के बाद ही ये आवारा तत्व छात्राओं को रोककर उनके साथ हमेशा छेडछाड करते हैं। ऐसे में किसी दिन बडी घटना रमा गोविंद पैलेस में सामने आएगी और तब पुलिस के पास कोई जवाब नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *