नम आंखों से की गई माँ दुर्गा की विदाई,पाँच घंटे लगातार खड़े होकर एएसपी ने की कड़ी धूप में की सुरक्षा व्यवस्था

मध्यप्रदेश ब्यूरो कृष्ण कुमार गुप्ता
9424689669,9131867348

सोनांचल रिपोर्टर,सीधी/सीधी-जिले भर में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन का कार्य सोन नदी, गोपद नदी, बनास नदी एवं अन्य पवित्र जलाशयों में किया गया। सोन नदी के गऊघाट, कोल्दहा घाट, जोगदहा घाट, भंवर सेन एवं रामपुर घाट में पुलिस की कड़ी व्यवस्था के बीच दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन का कार्य दशहरा के पावन अवसर पर किया गया। विसर्जन स्थल पर कोई अप्रिय घटना घटित न हो इसके लिये प्रशासन पूरी तरह से सजग था। सोन नदी के विभिन्न घाटों के साथ ही अन्य जलाशयों में इसके लिये पु ता इंतजाम सुनिश्चित किये गये थे। सोन नदी, गोपद नदी, बनास नदी समेत अन्य जलाशयों में दशहरा पर सुबह से ही दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया था। जिला मु यालय समेत अन्य क्षेत्रों से यहां करीब 3700 दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। गऊघाट में कमर्जी थानाक्षेत्र के साथ ही अमिलिया थाना क्षेत्र के पहाड़ी अंचल तक की दुर्गा प्रतिमाओं को विसर्जन के लिये यहां लाया गया था।

जिले में विभिन्न पवित्र नदियों में भी दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। सेमरिया अंचल में सेमरिया, कुबरी, बढ़ौरा, झगरहा, पोड़ी, ओबरहा, मनकीसर, देवगढ़ एवं अन्य गांव में से मां दुगां के प्रतिमा को भक्तों ने कोल्दह सोन नदी, तरिहा एवं हनुमानगढ़ में व कुसमी थानांतर्गत गोतरा में गोपदनदी में प्रवाहित किये। वहीं मझौली अंचल में बनास नदी परसिली में दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। सिहावल अंतर्गत सोन नदी घाट रामपुर में 100 से अधिक मां दुर्गा का विसर्जन किया गया। जिसमें बलहया, चितवरिया, बाकी, सिहावल, सबैचा, रामपुर, बमुरी के भक्तो ने बड़े सदभाव एकता के साथ सोन नदी मे दुर्गा मां की प्रतिमा का विसर्जन किया। इस दौरान पुलिस द्वारा बड़े पैमाने पर सुरक्षा इंतजाम किये गये थे। शारदेय नवरात्रि पर दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना पर श्रद्धालु पूरी तन्मयता के साथ 9 दिनों तक मां की आराधना में जुटे रहे। दशहरा पर आदि शक्ति मां दुर्गे की प्रतिमा के विसर्जन की घड़ी आते ही श्रद्धालु उनकी विदाई को लेकर काफी भाव विहल हो गये। कई श्रद्धालुओं को विसर्जन के दौरान पवित्र नदियों के घाटों पर काफी रोते बिलखते देखा गया। खासतौर से महिला श्रद्धालु 9 दिनों तक मां की आराधना में लीन रहने के कारण उन्हें सबसे ज्यादा बिलखते देखा गया। पवित्र नदियों में श्रद्धालुओं द्वारा डबडबाई आंखों से मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन करते हुए आशीर्वाद लिया गया। रामपुर नैकिन क्षेत्र में स्थापित की गई दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन सोन नदी के शिकारगंज घाट समेत कनकटी क्षेत्र में भी दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन श्रद्धालुओं द्वारा किया गया। विसर्जन से पूर्व कनकटी देवी मंदिर में विशाल भंडारा एवं हवन का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था। जिसमें क्षेत्र के हजारों श्रद्धालुओं ने पहुंचकर अपनी सहभागिता प्रदर्शित की। वहीं चुरहट अंचल में स्थापित की गई दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन सोन नदी के कोलदहा घाट में पुलिस की कड़ी चौकसी व्यवस्था में की गई। सिहावल अंचल में स्थापित की गई दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन सोन नदी के रामपुर घाट में किया गया। कुसमी एवं मड़वास अंचल में स्थापित की गई दुर्गा प्रतिमाओ का विसर्जन श्रद्धालुओं द्वारा गोपद एवं बनास नदी में किया गया। दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के मद्देनजर पुलिस द्वारा व्यापक इंतजाम किए गए थे। करीब पांच सौ पुलिस कर्मियों की ड्युटी नदी के विभिन्न तटों में लगाई गई थी। साथ ही बड़े अधिकारी भी भ्रमण कर सतत व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे थे।

Admin

http://www.sonanchalexpressnews.com Beauro cheaf Krishna kumar gupta 9424689660

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *